मुस्कराहट

17202687_1867362560219690_6185431354828950560_n

मुस्कराहट भी कया
चहरे का गज़ब भाव है
ख़ुशी में मुस्कुराओ
तो दिल खिल जाता है|

यदि दुःख में मुस्कुरओ तो गम को
छिपाने का जरिया बन जाता है
और कभी तो मुस्कराहट इन्सान में छिपी
बुराइयों का आईना भी बन जाता है|

मुस्कुराहाट एक मामूली सा भाव है
पर हर परिस्तिथि में
इसका एक अलग रूप सामने आता है
बस इन्सान को इसे परखना आना चाहिए|

यदि सही परखा तो इन्सान को
इन्सान की फितरत का पता चलता है
क्योंकि मुस्कराहट ही तो वह जरिया है
जो बिना शब्दों के सब कुछ ब्याँ करती है|

ऋषिका सृजन 

–XxXxX–

©All Rights Reserved
© Rishika Ghai

image courtesy google

Advertisements