ख़ुशी

unnamed

क्यों आती है ख़ुशी?
जीवन में पल भर के लिए
आकर फिर कहाँ खो जाती है ख़ुशी?
जीवन को फिर अँधेरे में ढकेल जाती है
पर जब भी आती है ये ख़ुशी
जीवन को हरा भरा और खुशहाल कर देती है|

***

यह खुशियाँ ही तो है
जो मनुष्य को जीना सिखा जाती है
जीवन में रस भर जाती है,
नीरस सा लगता है, इसके बिना जीवन
और जीने की इच्छा शक्ति खत्म होती जाती है|

***

ये छोटी छोटी खुशियाँ ही तो है
जब जीवन में गमों के बाद आती है

तब इसका महत्व और भी बढ़ा जाती है 
 और जीवन को खुशहाल बनाती है ये ख़ुशी
तो खुशियों को जीवन में ग्रहण करते चलो
और ख़ुशी से जीवन जीते चलो|

ऋषिका सृजन 

–XxXxX–

©All Rights Reserved
© Rishika Ghai

image courtesy google

Advertisements