मेरी नानी, मेरी जान

IMG-20141105-WA0041

दुनिया में माँ से बढ़कर
कोई नहीं होता
पर मेरे लिए मेरी पूरी दुनिया
मेरी नानीमाँ है
जितना प्यार माँ से करती हूँ
उससे कहीं ज्यादा नानीमाँ से करती हूँ|

कहते है माँ का स्थान सबसे ऊँचा होता है
पर मेरे जीवन में वह स्थान
नानीमाँ को प्राप्त है
जीतना प्यार में उनसे करती हूँ
उतना ही वो भी मुझसे करती है|

नहीं तो कौन सी ऐसी नानी होगी
जो बूढ़ापे में अपनी नाती को
अपनी बेटी से बढ़कर प्यार दे
रात दिन उसकी सेवा करे
उसे पाल पोसकर जीवन के लिए तैयार करे |

जब-जब मुझे लगा में जीवन
के संधर्श में हार रही हूँ
तब-तब नानी मेरा सहारा और
मुसीबत से लड़ने की ताकत बनी
और मुसीबत का डट कर सामना किया|

मुझे हिंदी भाषा से डर लगता था
हरदम मै उससे दूर भागती थी
पर आज जो मैने हिंदी में बी.ए किया
और ढ़ेरो कविताएँ लिखी उसका
श्रेय मेरी नानी को जाता है|

मेरा जीवन आपके बिना अधुरा है
नानी, आप हो तो मैै हूँ
भगवान से मिली एक अमूल्य भेंट हो
आपका अस्तित्व सदैव मेरे जीवन का अटूट अंग रहेगा|  

ऋषिका सृजन 

–XxXxX–

©All Rights Reserved
© Rishika Ghai

image courtesy google

Advertisements