जागरूक

16804300_1853248374964442_2900660695985491152_o

आज की दौर में लोग अफ्वाओं पर
आखँ मुंद कर विश्वास करते है उसे सच मानते हैं
वह ये भूल जाते है कि उन्हें
खुद उस घटने से अवगत होना चाहिए|

क्योकि दूसरो का कहा

हमेशा सच नहीं होता
कभी कभी लोग धोखे में डालने या नफरत
पैदा करने के लिए भी अफवा फैलाते है|

***
जब तक अपनी आखों से देख न लो

समझ न लो, परख न लो
तब तक उस घटना पर विश्वास मत करो 

और सच जाने बीना किसी निष्कर्ष पर मत पहुचो|

***

नही तो जीवन में अनर्थ हो सकता है
खुशियों का पलायन निश्चित है
इसलिए जीवन में घटित परिस्थितियों
से अवगत रहना ज़रूरी है|

ऋषिका सृजन 

–XxXxX–

©All Rights Reserved
© Rishika Ghai

image courtesy google

Advertisements

10 thoughts on “जागरूक

  1. शत प्रतिशत खरी बात है
    बिना सोचे समझे जाने ओपिनियन बना लेना बहुत बड़ी भूल होती है

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s